मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना उत्तराखंड 2023

4.7/5 - (4 votes)
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना उत्तराखंड 2023 क्या है? योजना का उद्देश्य, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता की शर्तें, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर, (Mukhyamantri Ekal Mahila Swarojgar Yojana in Hindi, Benefits, Eligibility, Online Form, Documents, Helpline Number)

उत्तराखंड सरकार के द्वारा महिला सशक्तिकरण हेतु विभिन्न सरकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं, महिलाओं की आर्थिक अर्थव्यवस्था में सुधार करने हेतु, सरकार के द्वारा एक नई योजना की घोषणा की गई है, अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के शुभ अवसर पर राज्य सरकार के द्वारा एकल महिलाओं के सशक्तिकरण के दिशा की ओर अपना कदम बढ़ाते हुए एक बहुत ही बड़ा निर्णय लिया है, एवं एकल महिलाओं को लाभ प्रदान करने के लिए “मुख्यमंत्री एक महिला स्वरोजगार योजना” उत्तराखंड की शुरुआत की है, इस योजना के तहत महिलाओं को, आत्मनिर्भर बनाने के लिए रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा, जिसके अंतर्गत जो भी एक लाख तक का प्रोजेक्ट होगा, उस में महिलाओं को 50% तक का अनुदान राशि प्रदान किया जाएगा।

आइए इस लेख के माध्यम से हम सब जानते हैं की “Mukhyamantri Ekal Mahila Swarojgar Yojana” क्या है, एवं इसके लिए आवेदन कैसे करें।

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना उत्तराखंड, (Mukhyamantri Ekal Mahila Swarojgar Yojana in Hindi
Mukhyamantri Ekal Mahila Swarojgar Yojana

Table of Contents

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना उत्तराखंड 2023

योजना क्या है?मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना
योजना की शुरुआत किस वर्ष की गईमार्च 2023
घोषणा किसके द्वारा की गईमुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
योजना की शुरुआत किसके द्वारा की गईउत्तराखंड राज्य सरकार द्वारा
राज्यउत्तराखंड
योजना का उद्देश्यमहिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना
लाभार्थीउत्तराखंड राज्य की एकल महिलाएं
अनुदान₹100000 तक के प्रोजेक्ट पर 50% का अनुदान
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
हेल्पलाइन नंबरउपलब्ध नहीं

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना क्या है? (Mukhyamantri Ekal Mahila Swarojgar Yojana in Hindi)

प्रदेश की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने एवं महिला सशक्तिकरण को बल देने के उद्देश्य से, मार्च 2023 को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा, मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना की घोषणा की गई, जिसके तहत ₹100000 तक के प्रोजेक्ट 50% का अनुदान प्रदान किया जाएगा, इस योजना के लाभ से महिलाओं को स्वरोजगार के लिए छोटे-छोटे उद्यमों के माध्यम से प्रोत्साहन मिलेगा जिससे महिलाओं का आत्मबल बढ़ेगा।

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना का उद्देश्य क्या है?

इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि राज्य की महिलाओं को इस योजना के जरिए आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने हेतु रोजगार के नए अवसर प्रदान किए जाएंगे, जिससे महिलाओं को आर्थिक रूप से किसी अन्य पर आश्रित रहने की आवश्यकता नहीं होगी, राज्य की जो भी महिलाएं स्वयं का रोजगार चाहती है, उन्हें सरकार के द्वारा स्वरोजगार हेतु ₹100000 तक के रोजगार की शुरुआत करने के लिए 50% का अनुदान प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • उत्तराखंड राज्य सरकार के द्वारा केवल राज्य की महिलाओं के लिए इस योजना की शुरुआत की गई है, जिसके लाभ से महिलाओं समाज में एक अलग पहचान मिलेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को स्वरोजगार हेतु आर्थिक सहायता प्रदान किया जाएगा, इस योजना का लाभ केवल उत्तराखंड के महिलाओं को प्राप्त होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को स्वरोजगार हेतु ₹100000 के प्रोजेक्ट पर 50% का अनुदान सरकार के द्वारा प्रदान किया जाएगा।
  • राज्य की महिलाएं अपनी इच्छा अनुसार अपना स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकेंगी।
  • जो भी महिला इस योजना के लाभ के पात्र होंगी, अनुदान की राशि उनके बैंक खाते में सरकार के द्वारा सीधे जमा कर दिए जाएंगे, जिससे महिलाओं को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होगी।
  • इस योजना के अंतर्गत एकल महिलाओं को छोटे-छोटे उद्यमों के माध्यम से महिलाओं को स्वरोजगार हेतु प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • इस योजना के लाभ से महिलाएं आर्थिक रूप से निराश्रित हो पाएंगी।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा महिलाओं के सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत किन महिलाओं को शामिल किया जाएगा?

  • एडिश हमले से पीड़ित महिला
  • तलाकशुदा
  • विधवा
  • किन्नर
  • परित्यक्ता और अपराध से पीड़ित
  • इन सभी महिलाओं को मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा एवं योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत किन रोजगार को शामिल किया जाएगा?

  • कृषि (फार्मिंग)
  • दुकान
  • औद्यानिकी
  • पशुपालन
  • भेड़, बकरी पालन
  • मत्स्य पालन
  • कुक्कुट पालन
  • खाद्य प्रसंस्करण
  • इन सभी के अलावा महिलाओं की आवश्यकता के अनुसार जिस भी रोजगार की मांग की जाएगी उससे भी मुख्यमंत्री महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा।

पात्रता की शर्तें

  • मूलनिवासी :- इस योजना के पात्र केवल वही महिलाएं होंगी क्योंकि उत्तराखंड की मूल निवासी होंगी।
  • आयु सीमा :- 25 वर्ष से लेकर 45 वर्ष तक की महिलाएं इस योजना के पात्र मानी जाएंगी, अर्थात महिलाओं की न्यूनतम आयु सीमा 25 वर्ष एवं अधिकतम आयु सीमा 45 वर्ष की होनी चाहिए।
  • मासिक आय :- योजना के अंतर्गत उन्हीं महिलाओं को शामिल किया जाएगा जिनकी मासिक आय ₹6000 या उससे कम है, इससे अधिक आय वाली महिलाओं को इस योजना के अंतर्गत पात्र नहीं माना जाएगा।
  • कार्यरत :- संगठित सेवा, सरकारी या गैर सरकारी उपक्रम में कार्य करने वाली महिलाएं इस योजना के पात्र नहीं होंगी।
  • पेंशन :- ऐसी महिलाएं जो कि राजकीय व पारिवारिक पेंशन प्राप्त करती हों, वे महिलाएं इस योजना के पात्र नहीं मानी जाएंगी।
  • वो सभी महिलाओं को इस योजना के पात्र होंगी, जिन्हें विधवा या विकलांग जैसी सरकारी योजनाओं से पेंशन मिल रहा है, ये सभी महिलाएं इस योजना के पात्र होंगी।

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना में आवश्यक दस्तावेज

  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • आयु प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते की जानकारी
  • आवश्यक होने पर आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना में आवेदन

सरकार द्वारा अभी केवल इस योजना की घोषणा की गई है, इस योजना से संबंधित ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में कोई जानकारी प्रदान नहीं की गई है, आवेदन से संबंधित जानकारी प्राप्त होने पर आप सभी को इस लेख के माध्यम से सभी जानकारियां उपलब्ध करा दी जाएंगी।

FAQ –

  1. Q : मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना की घोषणा कब की गई?

    मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना की की घोषणा मार्च 2023 में की गई है।

  2. Q : मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत अनुदान की राशि कितनी है?

    मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत महिलाओं को स्वयं की रोजगार हेतु ₹100000 के प्रोजेक्ट पर 50% की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी।

  3. Q : मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत किन महिलाओं को लाभ प्राप्त होगा?

    यह योजना उत्तराखंड सरकार के द्वारा महिलाओं को आत्म निर्भर बनाने के उद्देश्य से लाया गया है, इस योजना के अंतर्गत केवल उत्तराखंड के मूल निवासी महिलाओं को लाभ प्राप्त होगा।

  4. Q : मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना का लाभ लेने के लिए महिलाओं की आयु कितनी होनी चाहिए?

    मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत महिलाओं की न्यूनतम आयु 25 वर्ष एवं अधिकतम आयु 45 वर्ष होनी चाहिए।

  5. Q : मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत किन महिलाओं को शामिल किया जाएगा?

    एडिश हमले से पीड़ित महिला
    तलाकशुदा
    विधवा
    किन्नर
    परित्यक्ता और अपराध से पीड़ित, इन सभी महिलाओं को मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा।

इन्हें भी पढ़ें –

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment