(रजिस्ट्रेशन) नाबार्ड योजना 2023 (NABARD Dairy Farming Loan Apply)

5/5 - (2 votes)
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

नाबार्ड योजना 2023 नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना 2023 में दूध व्यवसाय के लिए  25% तक की सब्सिडी (NABARD Dairy Farming Loan Apply) नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना क्या है? उद्देश्य, लाभार्थी, लाभ एवं विशेषताएं, पात्रता, दस्तावेज, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर, ऑनलाइन/ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया

NABARD Dairy Farming Loan Apply , भारत सरकार के द्वारा नागरिकों के हितों के लिए विभिन्न सरकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं, इन सरकारी योजनाओं का मुख्य उद्देश देश के नागरिकों आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करना होता है, इन्हीं योजनाओं के बीज केंद्र सरकार के द्वारा एक क्रांतिकारी योजना NABARD Dairy Farming Scheme 2023 की शुरुआत की गई है, जिसके लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने बताया है की, NABARD Dairy Farming Scheme के जरिए भारत देश के किसानों को दूध व्यवसाय करने के लिए 30,000 करोड़ रुपए के अतिरिक्त आर्थिक सहायता प्रदान किया जाएगा।

इसलिए कि माध्यम से नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एन्ड रूरल डेवलपमेंट के बारे में संपूर्ण जानकारियां प्राप्त होंगी, यदि आप भी इस योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं, तो इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

(रजिस्ट्रेशन) नाबार्ड योजना 2023 (NABARD Dairy Farming Loan Apply)
नाबार्ड योजना 2023

NABARD Dairy Farming Scheme 2023

योजना का नामनाबार्ड योजना 2023
किसके द्वारा शुरु की गईवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा
उद्देश्यस्वरोजगार हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करना
लाभार्थीभारत देश के बेरोजगार नागरिक
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन/ऑफलाइन
ई-मेल आईडीWebmaster@Nabard.Org
हेल्पलाइन नंबर(91) 022-26539895/96/99

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना क्या है?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा लाई गई “NABARD Dairy Farming Scheme” एक ऐसी योजना है, जिसके अंतर्गत देश के बेरोजगार युवा स्वयं के रोजगार के लिए डेयरी अथवा दूध से संबंधित व्यवसाय करना चाहते हैं, इस योजना के माध्यम से सरकार उन सभी युवाओं को कम ब्याज दर पर रीड मुहैया कराएगी, राज्य के जितने भी पशुपालन विभाग हैं, उन सभी को पशुपालन विभाग को नाबार्ड योजना को सुव्यवस्थित ढंग से चलाने हेतु दिशा निर्देश दिया गया है, इस योजना से देश के 3 करोड़ किसानों को लाभ होगा।

नाबार्ड योजना का लाभ लेकर ग्रामीण क्षेत्र के बेरोजगार युवा स्वयं का डेयरी फॉर्म खोल सकेंगे, एवं दूध से संबंधित अन्य व्यवसाय भी कर पाएंगे, इस योजना के लाभ से जिनके पास भी रोजगार नहीं है वे घर बैठे अपना स्वयं का रोजगार शुरू कर सकते हैं, जिसके लिए आपको सरकार के द्वारा ऋण एवं सब्सिडी के माध्यम से वित्तीय सहायता प्रदान किया जाएगा, जिसके लाभ से नागरिक स्वयं के लिए रोजगार शुरू कर सकेंगे साथ ही अन्य बेरोजगार नागरिकों को रोजगार भी प्रदान कर सकेंगे जिससे कि बेरोजगारी भी कम होगी।

SC/ST वर्ग के नागरिक इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, स्वयं का डेयरी फार्म खोलना चाहते हैं, उन्हें योजना के अंतर्गत जो सब्सिडी प्रदान की जाएगी उसमें उन्हें आरक्षण भी प्राप्त होगा, मत्स्य उत्पादन विभाग को भी नाबार्ड योजना 2023 के अंतर्गत शामिल किया गया है, इस योजना का आवेदन आप ऑनलाइन माध्यम एवं ऑफलाइन माध्यम दोनों ही तरीकों से कर सकते हैं, जो भी उम्मीदवार NABARD Dairy Farming Scheme कल आप लेना चाहते हैं वैसे भी नाबार्ड योजना के अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं, ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया से संबंधित संपूर्ण जानकारियां आप सभी को इस लेख में प्रदान की गई है।

नाबार्ड योजना 2023 के उद्देश्य

नाबार्ड योजना का मुख्य उद्देश्य देश के बेरोजगार नागरिकों को स्वयं के रोजगार स्थापित करने हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करना है, एवं डेयरी फॉर्म अथवा दुग्ध से संबंधित व्यवस्था हेतु, वित्तीय सहायता प्रदान करना है, जिससे कि नागरिक अपना स्वयं का रोजगार स्थापित कर सकेंगे साथी अन्य बेरोजगारों को रोजगार भी प्रदान कर पाएंगे, जिससे कि बढ़ती हुई बेरोजगारी को कम किया जा सकेगा।

NABARD Dairy Farming Scheme में ये सभी नागरिक होंगे लाभार्थी?

  1. किसान
  2. उद्यमी
  3. कंपनियां
  4. गैर सरकारी संगठन
  5. संगठित क्षेत्र
  6. संगठित समूह

योजना के अंतर्गत जो भी इन आवेदन कर्ताओं को ऋण प्रदान करेगी वह कुछ इस प्रकार से होंगे

  • क्षेत्रीय बैंक
  • राज्य सहकारी बैंक
  • राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण बैंक
  • व्यावसायिक बैंक

इन सभी के अलावा नाबार्ड संस्था से जुड़े हुए अन्य सभी संस्थान।

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एन्ड रूरल डेवलपमेंट के द्वारा प्रधान कीजिए जाने वाले लाभ

  • नाबार्ड योजना के अंतर्गत यदि नागरिक दूध से संबंधित अपना स्वयं का कोई प्रोडक्ट बनाना चाहता है, अथवा दूध से संबंधित अन्य कोई भी उत्पाद बनाना चाहता है (दूध से बना हुआ उत्पाद) तो सरकार द्वारा इसके लिए सब्सिडी प्रदान किया जाएगा।
  • निम्न वर्ग के किसानों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • जो भी ऋण इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को मुहैया कराई जाएगी दिशा निर्देश के अनुसार वे सभी ऋण बैंक द्वारा ही मुहैया कराई जाएगी, इसके अलावा जितनी भी ऋण की राशि बैंक द्वारा मुहैया कराई जाएगी उस कुल राशि का 25% आपको स्वयं ही बैंक को भुगतान करना होगा।
  • यदि आप इस योजना के अंतर्गत दुग्ध उत्पाद प्रोसेसिंग हेतु किसी प्रकार की मशीन लेना चाहते हैं, तब सरकार द्वारा आपको 25% की सब्सिडी अर्थात केवल 3.30 लाख रुपए तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी, वैसे आपको बता दें की दुग्ध उत्पाद प्रोसेसिंग हेतु जो भी मशीनें आती हैं उनकी कीमतें लगभग 13.20 लाख रुपए की आती है, जिसमें स्वयं का निवेश राशि बहुत अधिक है।
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति वर्ग के नागरिकों को Dairy Farming Scheme के अंतर्गत 4.40 लाख रुपए की सब्सिडी बैंक द्वारा मुहैया कराई जाएगी।
  • नाबार्ड योजना के अंतर्गत दूध उत्पादन से संबंधित जितने भी कार्य किए जाएंगे वह मशीनों द्वारा श्री किए जाएंगे।
  • यदि कोई भी लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत लगभग 5 गायों से अपने दूध का व्यवसाय शुरू करना चाहता है तो उसके लिए उसे सबसे पहले कुल लागत का सही विवरण पेश करना होगा, लाभार्थी का कुल लागत राशि जितना भी होगा, उसका 50% सब्सिडी सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा, बाकी का 50% ऋण लाभार्थी बैंक को किस्तों में भुगतान करेगा।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना में पात्रता के मापदंड

  • नाबार्ड योजना डेयरी फार्मिंग योजना के अंतर्गत एक परिवार में केवल एक ही सदस्य को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा, एक परिवार से केवल एक ही सदस्य इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है।
  • यदि एक ही परिवार में 2 सदस्यों ने अलग-अलग डेहरी स्थापित किया है, तब इस अवस्था में दोनों की दूरी 500 मीटर से अधिक होना चाहिए।
  • योजना का लाभ लेने के लिए परिवार का सदस्य केवल एक ही बार आवेदन कर सकेगा, क्योंकि योजना का लाभ केवल एक ही बार प्रदान किया जाएगा।
  • नाबार्ड योजना डेयरी फार्मिंग योजना के अंतर्गत अन्य और भी घटक उपलब्ध हैं, आवेदक चाहे तो उन सभी घटकों का लाभ ले सकता है, जिसके लिए उसे उन सभी घटकों के लिए भी सब्सिडी प्रदान किया जाएगा, लेकिन इन घटकों का लाभ भी वह केवल एक ही बार ले सकता है।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना ऑनलाइन आवेदन (NABARD Dairy Farming Loan Apply Online)

यदि आप नाबार्ड डेरी फार्मिंग योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो उसकी संपूर्ण जानकारी स्टेप बाय स्टेप बताई गई है आप इन सभी स्टेप्स को ध्यान से पढ़ें।

  • (1) स्टेप :- सर्वप्रथम आपको नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूलर डेवलपमेंट की आधिकारिक वेबसाइट www.nabard.org के होम पेज पर चले जाना है।
  • (2) स्टेप :- अधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर आपको इंफॉर्मेशन सेंटर का विकल्प दिखेगा जिस पर आपको क्लिक करना है।
  • (3) स्टेप :- अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा, जिस पर आपको योजनाओं के आधार पर आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करने का लिंक दिखेगा, आपको आवेदन फार्म का पीडीएफ डाउनलोड करने के बाद, प्रिंटर से आवेदन फॉर्म का प्रिंट निकाल लेना है।
  • (4) स्टेप :- आवेदन फॉर्म का प्रिंट निकालने के पश्चात आपको उसमें मांगी गई सभी जानकारियां दर्ज कर देने हैं, एवं आवश्यक दस्तावेजों को ही अटैच कर देना है।
  • (5) स्टेप :- आवेदन फॉर्म भरने के पश्चात एवं संपूर्ण दस्तावेज अटैच करने के बाद आपको इस आवेदन फॉर्म को अपने जिले के नाबार्ड कार्यालय में जमा कर देना है।

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना में ऑफलाइन आवेदन (NABARD Dairy Farming Loan Apply Offline)

नाबार्ड डेयरी फार्मिंग योजना में ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आपको अपने नजदीकी बैंक में चले जाना एवं योजना से संबंधित अन्य जानकारियां भी प्राप्त कर लेने हैं, यदि आप चाहें तो अपने जिले के नाबार्ड कार्यालय में भी जा सकते हैं, एवं ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं , इतना करने के बाद आपको अपने बैंक में चले जाना है जहां से अपने खाता खुला रखे हैं, बैंक में जाने के बाद आपको सब्सिडी फॉर्म भर लेना है, जिसकी संपूर्ण जानकारी बैंक कर्मचारियों द्वारा आपको प्रदान कर दी जाएगी।

होम पेजयहां उपलब्ध है
आधिकारिक वेबसाइटयहां उपलब्ध है
टेलीग्राम ग्रुपज्वाइन करें

FAQ –

Q : नाबार्ड की कितनी सहायक कंपनियां हैं?

नाबार्ड की 7 सहायक कंपनियां है (1) NABKISAN (2) NABSAMRUDDHI (3) NABFINS (4) NABFOUNDATION (5) NABCONS (6) NABVENTURES (7) NABSanrakshan

Q : नाबार्ड में भारत सरकार का हिस्सा कितना प्रतिशत है?

(NABARD) का पूरा नाम नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एन्ड रूरल डेवलपमेंट है जिसकी स्थापना 1982 में की गई थी, (RBI) रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के द्वारा उनका हिस्सा बेच दिया गया था, और अब नाबार्ड में भारत सरकार का हिस्सा 99% है।

Q : नाबार्ड का मुख्यालय कहाँ स्थित है?

नाबार्ड का मुख्यालय मुंबई में स्थित है।

अन्य पढ़ें-

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment