पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना 2023| Pashudhan Swasthya Rog niyantran Yojana in Hindi,Utterpradesh ( मोबाइल वेटरनरी यूनिट एंबुलेंस सेवा)

5/5 - (2 votes)
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

(Pashudhan Swasthya, Rog niyantran Yojana in Hindi) पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना क्या है/ इसके उद्देश्य क्या है/ लाभ एवं विशेषताएं/ पात्रता/ योजना का बजट/ टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर (Pashudhan Swasthya, Rog Niyantran Yojana 2023, LH & DC Yojana) (Objective profits & Features, Eligibilityes, Document, Toll Free Helpline Number ,Online Apply)

नमस्कार दोस्तों, क्या आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं, क्या आप अपने पशुओं का सही इलाज नहीं करा पा रहे हैं, क्या आप अपने गाय-भैंसों के रोगों से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो यह योजना आपके लिए ही है, जी हां दोस्तों हाल ही में “उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी” एवं केंद्रीय मत्स्य पालन पशुपालन और डेयरी मंत्री भारत सरकार के “परसोत्तम रुपाला जी” के कर कमलों द्वारा 520 मोबाइल वेटरनरी यूनिट एंबुलेंस को गौ सेवा हेतु अपने सरकारी स्थल से रवाना करते हुए हरी झंडी दिखाई है साथ ही पुरुषोत्तम रुपाला जी ने अपने शब्दों में यह बताया है कि जिस प्रकार इंसानों के रोग उपचार के लिए एवं दुर्घटना के समय 108 नंबर को डायल करके एंबुलेंस बुलाया जाता है उसी प्रकार पशुओं के रोग उपचार के लिए एंबुलेंस सेवा की व्यवस्था सरकार द्वारा किया गया है इस योजना से आप घर बैठे पशुओं का निशुल्क इलाज करवा सकेंगे,

तो आइए “पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना” को इस आर्टिकल के माध्यम से हम जानते हैं कि पशुओं के स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण के लिए सरकार ने क्या लाभ बताया है और आपको इस योजना का लाभ कैसे मिल पाएगा,

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना 2023
Pashudhan Swasthya, Rog niyantran Yojana

Table of Contents

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना, (LH,DC Yojana 2023 Utterpradesh)( हाईलाइट सूची)

योजना का पूरा नाम“पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना”( एलएच एवं डीसी योजना) उत्तर प्रदेश
किसके द्वारा घोषणा की गईमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश
राज्यउत्तर प्रदेश
शुरुआती साल 2023
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के गौवंश एवं गौ सेवक
उद्देश्य मोबाइल वेटरनरी यूनिट एंबुलेंस सेवा के माध्यम से पशुधन स्वास्थ्य रोग नियंत्रण करना
सरकारराज्य सरकार
बजट201 करोड़ की लागत में
टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1962

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना क्या है(LH,DC Yojana 2023 Utterpradesh)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी एवं केंद्रीय पशुपालन मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला जी के द्वारा हाल ही में घोषणा के दौरान बताया कि 201 करोड़ की लागत से 520 मोबाइल वेटरनरी यूनिट फ्लैग एंबुलेंस सेवा को हरी झंडी दिखाया है इस योजना के तहत पुरुषोत्तम रुपाला जी के द्वारा बताया गया कि जिस प्रकार इंसानों के बीमार एवं दुर्घटना होने के पश्चात एंबुलेंस सेवा 108 की मदद ली जाती है उसी प्रकार जानवरों एवं पशु चिकित्सा के लिए सरकार ने एंबुलेंस सेवा एवं टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर जारी किया है साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने बताया कि प्रदेश के 6 करोड गोधन संवर्धन की दृष्टि से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद और बताया कि उत्तर प्रदेश मैं 6600 गोवंश निराश्रित के लिए सरकार ने संस्थानों का निर्माण कराया है उत्तर प्रदेश के 12लाख गौवंश निराश्रित है जिनमें से 11लाख अकेले उत्तर प्रदेश सरकार ने निराश्रित गौवंश का जिम्मा उठाया है इस योजना के माध्यम से कॉल करके घर बैठे पशु स्वास्थ्य और गोवंश में हो रही बीमारियों का रोग नियंत्रण किया जा सकेगा। इस योजना को बेहतर रूप से चलाने के लिए 5 कंट्रोल जोन एवं दो कॉल सेंटर तैयार किए गए जो अलग-अलग क्षेत्रों में इस योजना की निगरानी करेंगे

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना का उद्देश्य (Objective)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना 2023 की घोषणा की गई है गौ सेवा के क्षेत्र में प्रदेश बहुत सी योजनाएं चला रही हैं जिनमें से यह एक बहुत ही कल्याणकारी योजना है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत का विश्व में दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में प्रथम स्थान है और भारत में दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर आ रहा है एवं इस योजना को चलाने का सरकार का बहुत बड़ा लक्ष्य है पशुओं में होने वाली लंफी नामक रोग से नियंत्रण करके बड़ी सफलता हासिल की है गोवंश में होने वाली बीमारी मुंह पका खुर पका लंफी जैसी खतरनाक बीमारी से निजात पाना एवं गौधन का पूर्ण उपयोग करने के लिए गोवंश का संरक्षण करना इस योजना का मुख्य उद्देश्य है, जिसके लिए सरकार कार्यरत है।

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना की विशेषताएं (profits and Features)

  • सर्वप्रथम इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के गोवंश एवं गौ सेवकों को मिल सकेगा।
  • पशुओं में होने वाली बीमारी का नियंत्रण एवं नई उत्पन्न होने वाली बीमारियों की निगरानी की जाएगी एवं उचित समय में रोगों की रोकथाम की जा सकेगी।
  • इस योजना के अंतर्गत पशुपालन से संबंधित मिलने वाले सभी लाभों को पशुपालकों तक पहुंचाया जाएगा।
  • पशुपालन के साथ-साथ गोवंश से उत्पन्न गोधन का उपयोग करके ग्रामीणों के लिए आर्थिक आय का स्रोत तैयार करना।
  • 520 मोबाइल वेटरनरी यूनिट एंबुलेंस सेवा माध्यम से रोगी पशुओं का घर तक पहुंच कर इलाज मुहैया कराया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने इस योजना को सही ढंग से चलाने एवं जानकारी प्रदान करने के लिए पांच कंट्रोल जॉन स्थापित किए हैं, जो इस योजना में बहुत लाभकारी सिद्ध होंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत गोवंश की सेवा एवं सहायता के लिए पशुपालकों जानकारी प्रदान करने हेतु प्रदेश में दो कॉल सेंटर स्थापित किए गए है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने इस योजना का कितना बजट पेश किया है(Budget 2023 UP)

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी जी के द्वारा घोषणा के दौरान जानकारी दी गई की 201करोड रुपए की लागत से 520 मोबाइल बैटरी यूनिट एंबुलेंस सेवा को हरी झंडी दिखाई गई है, इसके लिए भारत सरकार के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को मुख्यमंत्री ने धन्यवाद किया है, पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार ने इस योजना के लिए पांच कंट्रोल जॉन्स एवं दो कॉल सेंटर का निर्माण करवाया है, जिस कारण गोवंश की सेवा की निगरानी की जाएगी इस बजट के अंतर्गत एंबुलेंस सेवा टोल फ्री नंबर 1962 जारी किया गया है, जिस पर कॉल करके गौ सेवक बीमार पशुओं का एवं रोग ग्रसित पशुओं का तुरंत इलाज करवा सकेंगे, यह एंबुलेंस सेवा आपके घर तक पहुंचकर सेवा प्रदान करेगी।

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना का अधिकारिक वेबसाइट(Official Website)

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा हाल ही में पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना की घोषणा की गई है उत्तर प्रदेश द्वारा पशुधन संरक्षण एवं पशुपालन विभाग के माध्यम से यदि आप और भी लाभो के बारे में जानना चाहते हैं एवं और वृहद रूप से जानकारी चाहते हैं, तो इसके लिए आपको सरकार द्वारा ऑफिशियल वेबसाइट उपलब्ध कराया गया है, जिस पर जाकर आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना के अंतर्गत किसी भी गौ सेवक को आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह योजना पशुधन सेवा के लिए 520 एंबुलेंस सेवा चलाकर निराश्रित गोवंश एवं रोगी पशु के संरक्षण एवं संवर्धन के लिए चलाया जा रहा है इस योजना में मुख्य रूप से एंबुलेंस नंबर की आवश्यकता पड़ेगी इस नंबर पर आप कॉल करके सेवा का लाभ ले सकेंगे।

पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना का टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर(Toll Free Helpline Number)

दोस्तों इस योजना से संबंधित सारी जानकारी हमने आपको उपलब्ध करा दी है आशा करते हैं कि इस योजना से संबंधित सारी जानकारी एवं इससे मिलने वाले आपको फायदे के बारे में आप समझ चुके हैं इस योजना का लाभ उठाने के लिए सरकार ने हेल्पलाइन नंबर टोल फ्री नंबर उपलब्ध कराया है जिस पर कॉल करके ही आप इस योजना का लाभ उठा पाएंगे टोल फ्री नंबर 1962 है पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना के तहत आपके घर तक एंबुलेंस सेवा पहुंच जाएगी पशुधन स्वास्थ्य से संबंधित एवं रोग नियंत्रण से संबंधित समस्याओं का निवारण हो जाएगा धन्यवाद,

होम पेजयहां उपलब्ध है
अधिकारिक वेबसाइटयहां उपलब्ध है
टोल फ्री नंबर1962

इन्हें भी पढ़ें-

FAQ:-

Q. सर्वाधिक पशुधन वाला राज्य कौन सा है?

Ans- उत्तर प्रदेश

Q.पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना किस राज्य में चलाया जा रहा है?

Ans- उत्तरप्रदेश राज्य द्वारा चलाया जा रहा है

Q.पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना का एंबुलेंस सेवा नंबर क्या है?

Ans- एंबुलेंस सेवा नंबर:-1962

Q.पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना की शुरुआत किसने की?

Ans- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं केंद्रीय पशुपालन मंत्री परसोत्तम रुपाला जी के साथ इस योजना की शुरुआत की गई।

Q. पशुधन स्वास्थ्य एवं रोग नियंत्रण योजना का लाभ किसे मिलेगा?

Ans- उत्तर प्रदेश के निराश्रित गोवंश एवं पशुपालकों को इस योजना का लाभ मिलेगा

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment