राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 2023 (RKVY) | Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi

5/5 - (6 votes)
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

जाने राष्ट्रीय कृषि विकास योजना क्या है? (Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi) , योजना का बजट, योजना का उद्देश्य, कार्यान्वयन, कंपोनेंट्स, प्रोजेक्ट रिपोर्ट, लाभ एवं विशेषताएं, योजना में पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, योजना में आवेदन, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर। (What is RKVY) (RKVY Yojana Budget) (Objective) (Beneficiary, Eligibility, Documents, Online Registration, Official Website, Helpline Number)


भारत एक कृषि प्रधान देश है, जहां पर बड़ी मात्रा में खेती की जाती है, सरकार द्वारा कृषि को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिसके लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रयास भी किए जा रहे हैं, एवं विभिन्न सरकारी योजनाएं भी चलाई जा रही हैं, भारत सरकार ने वर्ष 2007 में कृषि उत्पादन को बल देते हुए ” राष्ट्रीय विकास योजना” के नाम से एक क्रांतिकारी योजना की शुरुआत की थी, जो कि यह योजना आज भी कई वर्षों से चलती हुई आ रही है,

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना 2023 (RKVY) | Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi
Rashtriya Krishi Vikas Yojana 2023

इतना पुराना योजना होने के बाद भी कम ही लोगों को इस योजना के बारे में जानकारी है, इसलिए आज हम सब इस लेख के माध्यम से इस योजना के बारे में संपूर्ण जानकारियां आपको उपलब्ध करा रहे हैं, इस लेख में हम जानेंगे कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना क्या है, एवं आप इस योजना में आवेदन कैसे कर सकते हैं।

Table of Contents

(Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi)

[1].योजना का नामराष्ट्रीय कृषि विकास योजना
[2].योजना की शुरुआत कब की गईवर्ष 2007 में
[3].किसके द्वारा शुरू की गईभारत सरकार के द्वारा
[4].योजना का उद्देश्यकृषि क्षेत्र का विकास
[5].लाभार्थीदेश के किसान

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना क्या है (Rashtriya Krishi Vikas Yojana in Hindi)

What is RKVY : भारत सरकार द्वारा वर्ष 2007 में ही राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की शुरुआत कर दिया गया था, जिसे चलते हुए लगभग 16 वर्ष हो चुके हैं, अर्थात यह योजना वर्तमान में 15 वर्षों से भी अधिक पुरानी हो चुकी है, मुख्य तौर पर सरकार द्वारा इस योजना का संचालन हरित क्रांति को बढ़ावा देने के लिए किया गया है, अर्थात सरकार ने इस योजना की शुरुआत देश में कृषि क्षेत्र के विकास हेतु किया है,

वैसे तो इस योजना को 11वीं पंचवटी एवं 12वीं पंचवर्षीय योजना के अंतर्गत लागू कर दिया गया है, जिसके लिए 11वीं पंचवर्षीय योजना के तहत 22408.76 करोड़ रुपए की बजट भी जारी की गई थी, इसके अलावा 12वी पंचवर्षीय योजना के तहत Rashtriya Krishi Vikas Yojana के लिए 3148.44 करोड रुपए का बजट तय किया गया था, इस योजना के माध्यम से देश के कृषि क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा साथ ही प्राइवेट इन्वेस्टमेंट को भी बढ़ावा मिल पाएगा,

Rashtriya Krishi Vikas Yojana के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा कुछ क्षेत्रों को जोड़ा गया है जैसे :-

  • कृषि एवं बागवानी
  • कृषि संस्थान
  • कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा
  • मृदा एवं जल संरक्षण
  • कृषि विपणन एवं वृक्षारोपण
  • मत्स्य पालन
  • पशुपालन
  • डेरी उत्पादन
  • खाद्य एवं खाद्य भंडारण
  • वानिकी
  • वन्य जीव/आदि।

योजना का बजट क्या है? (RKVY Yojana Budget)

इस योजना के सफल संचालन हेतु भारत सरकार द्वारा लगभग ₹25000 करोड़ रुपए का बजट जारी हुआ है, योजना का बजट इतना इसलिए बढ़ाया गया है, ताकि योजना का संचालन कार्य करते हमें वित्तीय रूप से किसी भी प्रकार की परेशानी उत्पन्न ना हो, एवं योजना को उचित ढंग से संचालित किया जा सके, जिसके फलस्वरूप अधिक से अधिक नागरिकों को इस योजना का लाभ प्राप्त हो सके, योजना मुख्य रूप से देश के किसानों के लिए बनाई गई है, सरकार द्वारा देश के किसानों को वित्तीय रूप से सहायता प्रदान कर किसानों पर विशेष ध्यान दे रही है।

सरकार द्वारा चलाई जा रही “राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का उद्देश्य” (Objective)

भारत एक कृषि प्रधान देश है, जहां पर खेती (कृषि उत्पादन) को अधिक महत्व दिया जाता है, वैसे तो कई बार प्राकृतिक आपदाओं के कारण कृषि में कई समस्याएं भी उत्पन्न होती हैं, जिनकी वजह से देश के किसानों का नुकसान ही बहुत होता है, इन्हीं कारणों से किसानों की आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब हो जाती है, साथ ही किसानों को इस नुकसान से मानसिक तनाव से भी गुजारना पड़ता है, यही वजह है कि देश के किसान खेती छोड़ कर अन्य रोजगार की तलाश में परेशान रहते हैं,

इन सभी समस्याओं को देखते हुए भारत सरकार द्वारा, किसानों को आर्थिक एवं तकनीकी सहायता देने के उद्देश्य से Rashtriya Krishi Vikas Yojana की शुरुआत की गई है, इस योजना के लाभ से देश के किसान कृषि के क्षेत्र में आगे बढ़ पाएंगे, जिससे किसी के क्षेत्र में विकास हो सकेगा, साथ ही इस योजना से किसानों की आमदनी भी बढ़ेगी, और वे अपना एवं अपने परिवार का जीवन सुखी बना पाएंगे।

आखिर क्या है राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का कार्यान्वयन (Implementation)

योजना के कार्यान्वयन हेतु नोडल एजेंसी के रूप में कृषि डिपार्टमेंट ही काम करेगा, राज्य स्तर पर राज्य सरकार के द्वारा योजना के लिए कार्यान्वयन एजेंसी का निर्माण कार्य भी किया जाएगा, इस एजेंसी के संचालन हेतु राज्य सरकार को जो भी बजट दिया गया है, उस बजट के 2% का हिस्सा उपयोग किया जाएगा, राज्य एग्रीकल्चर प्लान एवं राज्य इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट का प्लान कार्यान्वयन एजेंसी के द्वारा ही तैयार किया जाएगा।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के लाभ एवं विशेषताएं (Benefit and Features)

  • 29 मई 2017 राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की शुरुआत की गई थी।
  • इस योजना के माध्यम से भारत सरकार कृषि एवं कृषि से संबंधित सभी क्षेत्रों के विकास कार्य हेतु लक्ष्य बनाकर कार्य कर रही है।
  • इस योजना के तहत सरकार द्वारा लोकल लेवल पर सभी फसलों की प्राथमिकता को बेहतर रूप में सुनिश्चित किया किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से देश के किसानों की आय में वृद्धि होगी, जिससे कि वे अपना एवं अपने परिवार का जीवन यापन बेहतर तरीके से कर पाएंगे।
  • किसानों की आमदनी में बढ़ोतरी हो इसलिए इस योजना के माध्यम से फूलों एवं मशरूम की खेती पर ध्यान दिया जा रहा है।
  • सरकार द्वारा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के लिए लगभग 25000 करोड रुपए का बजट भी तय किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से खेती एवं कृषि क्षेत्र में लगभग 4% का वृद्धि हो सकेगा ऐसा अनुमान लगाया गया है।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के कंपोनेंट्स क्या है?(Components)

  1. नियमित RKVY-RAFTAAR फ्लेक्सी फंड्स
  2. RKVY – RAFTAAR स्पेशल सब स्कीम
  3. कृषि उद्यमिता विकास
  4. फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन का प्रमोशन

नियमित RKVY-RAFTAAR फ्लेक्सी फंड्स

राज्य सरकार के द्वारा कृषि एवं कृषि संबंधित क्षेत्रों के के लिए नई गतिविधियां हेतु नीति के 70% हिस्से में से 30% इसका उपयोग किया जा सकता है।

RKVY – RAFTAAR स्पेशल सब स्कीम

अलग-अलग उपयोजनाओं को राष्ट्रीय प्राथमिकता के अंतर्गत शामिल किया गया है, इन सभी उप योजनाओं का संचालन इस योजना के अंतर्गत किया जाएगा, जिसमें प्रबंधन को सूचना सिंचाई एवं फसलों की कटाई के बाद, प्रोत्साहन देने का कार्य किया जाएगा, इसके अलावा उन जिलों पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा जिन जिलों पर बरसात ना होने की वजह से सूखा पड़ गया हो, भारत सरकार के द्वारा 1 वर्ष के भीतर किसी भी उप योजना की घोषणा नहीं किए जाने पर, ऐसी अवस्था में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना निधि में से बचा हुआ पैसा नियमित तौर पर दिया जाएगा।

कृषि उद्यमिता विकास

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत कृषि से संबंधित कार्य करने वाले किसानों का विकास होगा, जिसके लिए सरकार द्वारा विभिन्न बजट तय किए गए हैं, इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत कृषि उद्यमियों कि कौशल विकास पर भी ध्यान केंद्रित किया जाएगा, साथ ही इन कृषि उद्यमियों को आर्थिक सहायता भी प्रदान किया जाएगा, जिससे कि वे अपना स्वयं का रोजगार स्थापित करने में सक्षम हो पाएंगे।

फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन का प्रमोशन

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के अंतर्गत फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन (farmer producer organisation) का प्रमोशन भी करने का लक्ष्य रखा गया है, साथ ही इस योजना में एसपीओ प्रमोशन हेतु विभिन्न योजनाओं को संचालित करने का कार्य भी शामिल किया गया है, इसी के साथ ही एसपीओ को सब्सिडी भी उपलब्ध करवाई जाएगी, 500 अथवा इससे भी अधिक किसान जिस एसपीओ में हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत लाभ है पहुंचाया जाएगा।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना प्रोजेक्ट रिपोर्ट (Project Report)

भारत देश में जितने भी राज्य हैं उन्हें राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का प्रोजेक्ट रिपोर्ट जारी करनी पड़ेगी, सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा दिए गए फॉर्मेट यह रिपोर्ट तैयार किया जाएगा, जिस भी प्रोजेक्ट का बजट ₹250000000 रुपए (25 करोड़) से अधिक है उन सभी के लिए डीपीआर किसी थर्ड पार्टी के द्वारा किया जाएगा,

वार्षिक फिजिकल एवं फाइनल टारगेट, हर प्रोजेक्ट में डीपीआर के द्वारा ही दिए जाएंगे, स्टेट लेवल प्रोजेक्ट स्क्रीनिंग कमेटी के पास कृषि डिपार्टमेंट के द्वारा प्रत्येक प्रोजेक्ट रिपोर्ट को उपलब्ध कराया जाएगा, जिसके बाद प्रोजेक्ट के मूल्यांकन पर, स्टेट लेवल स्क्रीनिंग कमेटी के द्वारा कार्य किया जाएगा एवं उसे अप्रूवल के लिए स्टेट लेवल सेक्शनिंग कमेटी को भेज दिया जाएगा।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में पात्रता के मापदंड (Eligibility)

  • जो भी व्यक्ति Rashtriya Krishi Vikas Yojana से लाभ प्राप्त करना चाहता है, तो उसे इस योजना में आवेदन करने के लिए उस व्यक्ति का भारतीय निवासी होना अनिवार्य है, तभी वह इस योजना के पात्र होगा।
  • जो भी व्यक्ति इस योजना में आवेदन करना चाहता है उसकी आयु 18 वर्ष अथवा 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • योजना में मांगे गए सभी आवश्यक दस्तावेज होने पर ही व्यक्ति इस योजना के लाभ का पात्र होगा।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में दस्तावेज (Documents)

  1. पासपोर्ट साइज रंगीन फोटो
  2. आधार कार्ड
  3. पैन कार्ड
  4. बिजली बिल की फोटोकॉपी
  5. मोबाइल नंबर
  6. ईमेल पता
  7. साथ ही अन्य आवश्यक दस्तावेज

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना में आवेदन की प्रक्रिया (Online Apply)

  1. यदि आप भी Rashtriya Krishi Vikas Yojana में ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको सर्वप्रथम योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. अब आपको अधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर अप्लाई/आवेदन का विकल्प दिखेगा आपको इस फ्लिपकार्ट पर क्लिक करना है, जिसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  3. अब आपके सामने जो पेज खुला है उसमें आवेदन से संबंधित मांगी गई सभी जानकारियां ध्यान पूर्वक दर्ज करनी होंगी।
  4. सभी आवश्यक जानकारियां सर्च करने के पश्चात ध्यानपूर्वक पढ़ें, एवं सभी आवश्यक दस्तावेजों की पीडीएफ फाइल, जोकि प्रिंटर द्वारा स्कैन की गई होगी, इन सभी दस्तावेजों को अपलोड डॉक्युमेंट्स पाली विकल्प पर क्लिक करके मांगे गए सभी दस्तावेज अपलोड कर देने हैं।
  5. नीचे आपको सबमिट का बटन दिखाई देगा, आपको इसे सबमिट वाले बटन पर क्लिक करना है, इस प्रकार कोई भी व्यक्ति जो कि इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करना चाहता है, आवेदन कर सकता है।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की अधिकारिक वेबसाइट (Rashtriya Krishi Vikas Yojana Official Website)

इस लेख के माध्यम से हमने योजना से संबंधित सभी जानकारियां साझा करने का प्रयास किया है, यदि आप इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर ही जाना होगा, इसके अलावा यदि आप योजना से संबंधित जानकारियां योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको योजना के अधिकारी वेबसाइट rkvy.nic.in पर अवश्य जाना चाहिए।

राष्ट्रीय कृषि विकास योजना हेल्पलाइन नंबर (Helpline Number)

दोस्तों हमारे इस लेख में इस योजना से संबंधित सभी जानकारियां पूरी तरह से रिसर्च करने के बाद उपलब्ध कराई गई है, जिसमें योजना की संपूर्ण जानकारी यों के साथ, योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में भी विस्तार से बताया गया है, फिर भी आप योजना से संबंधित जानकारियां योजना की अधिकारिक हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से प्राप्त करना चाहते हैं, अथवा योजना से संबंधित किसी भी प्रकार की शिकायत दर्ज करना चाहते हैं, तो आप 011-23070964 इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सकते हैं।

होम पेजयहां से जाएं
आधिकारिक वेबसाइटrkvy.nic.in
व्हाट्सएप ग्रुपज्वाइन करें
टेलीग्राम ग्रुपज्वाइन करें

अन्य पढ़ें –

FAQ :- for Rashtriya Krishi Vikas Yojana

  1. राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की शुरुआत कब की गई है?

    वर्ष 2007 में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की शुरुआत कर दी गई थी, वर्तमान समय में यह योजना 15 वर्षों से भी पुराना योजना हो चुका है।

  2. राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की शुरुआत किसके द्वारा की गई है?

    भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना की शुरुआत की गई है।

  3. राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के लाभार्थी कौन हैं?

    भारत देश के किसान राष्ट्रीय कृषि विकास योजना जोकि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के लाभ लाभ के पात्र होंगे, वही इस योजना के लाभार्थी ही होंगे।

  4. राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है?

    राष्ट्रीय कृषि विकास योजना का हेल्पलाइन नंबर 011-23070964 है, जिसके माध्यम से व्यक्ति योजना से जुड़े अधिक जानकारी प्राप्त कर सकता है, अथवा योजना से संबंधित कोई शिकायत दर्ज करनी हो, तब भी इस हेल्पलाइन नंबर का उपयोग किया जा सकता है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment